Electromagnetic Radiation in iPhone 15: क्या है Risk?

7 Min Read
Electromagnetic Radiation in iPhone 15: क्या है Risk?

Electromagnetic Radiation in iPhone 15: क्या है Risk?

iPhone Ban कर दिया गया है। क्योंकि उसकी Electromagnetic Radiation नॉर्मल स्टैन्डर्ड से बहुत ज्यादा पाई गयी है। इतनी ज्यादा हाई, की इस से कैन्सर भी हो सकता था।

फ्रांस में एक ANFR डिपार्टमेन्ट है, जो रेडिएशन जैसी चीज़ों को कंट्रोल करता है। उन्होंने 141 रैंडम फ़ोन मार्केट से खरीदे, जिनमें iPhone भी थे। जिन्हें फिर लेबोरेटरी में टेस्ट कराया गया, तो पता चला की दो iPhone 12 ऐसे निकले हैं जिनका Electromagnetic Radiation 5.74 W/Kg है।

आसान भाषा मे कहू तो, जो हमारा शरीर केवल 4 W/Kg तक का रेडिएशन ही absorb कर सकता है। यूरोपियन देशों में फिर भी इस रेडिएशन की लिमिट को 2 W/Kg रखा गया है, और वही दूसरी तरफ भारत में 1.6 W/Kg  की लिमिट है।

अपने फ़ोन में *#07# डायल करने पर आपके phone की SAR (Specific Absorption Rate) वैल्यू आ जाएगी। वो लिमिट सेट है, इंडिया में 1.6 W/Kg है और यूरोपियन देशों में वो 2.0 W/Kg हैं।

Electromagnetic Radiation in iPhone 15: क्या है Risk?
Electromagnetic Radiation in iPhone 15: क्या है Risk?

 

ये टीवी, माइक्रोवेव या रेडिओ में भी इस्तेमाल होती है, लेकिन 4.0 W/Kg की लिमिट तक हमारा शरीर उसे absorb कर लेता है, कोई प्रॉब्लम नहीं होती है। लेकिन 4.0 W/Kg के बाद चीज़े खतरनाक रूप लेने लगती है। बल्कि 4.1 W/Kg या 4.2 W/Kg भी खतरनाक है, लेकिन iPhone 12 की रेडिएशन 5.74 W/Kg निकली है। जो की काफी ज्यादा है।

ऐसे में फ्रांस में सेल बंद कर दी गयी है। फ्रांस के बाद अब बाकी देशों में भी अब ये चेक किया जा रहा है, और बाकी iPhone पर भी चेक किया जा रहा है।

अपने Android या iPhone पर रेडिएशन चेक करने के लिए, एक डिटेक्टर आता है। उसके बिना mobile radiation check कर पाना काफी मुश्किल होता है।

 

ज्यादा Mobile Radiation होने से क्या होता है?

आम तौर पर रेडिएशन की लिमिट ज्यादा होने से dizziness, मेमोरी लॉस, शरीर पर बुरे इफेक्ट, बर्न या और ज्यादा लेवल बढ़ने पर कैन्सर होने के भी चान्सेस ज्यादा होते हैं।

तो यह बेहद खतरनाक और जानलेवा हो सकता है। और यदि आपके पास iPhone है तो मै मानता हूँ की आप अमीर तो होंगे ही। मार्केट में EMM Detector 4,000 से 5,000 रुपये का आ जायेगा। और विशेषकर अगर आपके पास iPhone 12 हैं, तो चेक करना और भी ज़रूरी हो जाता है।

और भईया, भारत में तो शायद ही किसी को ही इस mobile phone radiation से कोई फ़र्क पड़े, क्योंकि इन फालतू चीजों के लिए हमारे पास टाइम नहीं है। भारत में तो वैसे भी बहुत सारी चीजे ऐसी बिकती है, जो बाहर ban है। जैसे Red Bull बाहर विदेशों में ban है, Colgate बाहर बच्चों के लिए ban है या Alto क्रैश टेस्ट में फेल होने के बाद भी, भारत मे धड़ल्ले से बिक रही है, लाइफबॉय साबुन या कह लू कुत्ते का साबुन जो हम मज़े से अपने शरीर पर घिस रहे हैं। लाइफबॉय है जहाँ, तंदुरुस्ती है वह, सब झूठ।

लेकिन फिर भी यदि, आपके पास iPhone है या कोई दूसरा फ़ोन भी है, और mobile phone radiation से बचना चाहते हैं, तो कुछ चीजें आप कर सकते है, जैसे…

  • बुरे signal आने पर call avoid करें: जब बुरे सिग्नल आ रहे हो तो फिर आप कॉल करना टालें, या फिर लाउड स्पीकर पर बात करें, उससे phone से थोड़ी दूरी होने पर रेडिएशन का ख़तरा थोड़ा कम रहता है
  • Charging पर लगा कर phone इस्तेमाल ना करें: फ़ोन को चार्ज करते समय, phone चलाने से बचें। क्योंकि उस वक्त भी रेडिएशन हाई लेवल पर होता है।
  • Phone का इस्तेमाल ना होने पर Switch Off करे दें: इसके अलावा जब phone का यूज़ बिल्कुल ना हो, तो हो सके तो phone स्विच ऑफ रखें।
  • सोते वक़्त Phone दूर रखें: सोते वक्त phone को अपने शरीर से जितना दूर हो सकें, रखें।

इन चीजों से थोड़ा मोड़ा तो बच सकते हैं, लेकिन ज्यादा नहीं।

लेकिन फिर भी यदि आप iPhone वगैरह लेने जा रहे हैं, तो अभी बाकी चीजों का रुझान भी आ जाने दीजिये। क्योंकि बाकी देशों में अभी भी इसे चेक किया जा रहा है।

Apple का फिलहाल इस बात पर कहना है की, उनके एक सॉफ्टवेर अपडेट के बाद ये प्रॉब्लम सॉल्व की जा सकती है। लेकिन Apple द्वारा दिए गए सॉफ्टवेर अपडेट वैसे भी डरावने है, क्योंकि इन लोगों ने अपडेट से बैटरी तक स्लो कर दी थी। लेकिन बाकी देशों में मुझे नहीं लगता, की अब कोई complaint आएगी क्योंकि शायद Apple इसमें कोई जुगाड़ कर ही देगा।

बाकी अगर आप iPhone ले रहे हो तो, मै Apple को एक most reputed company मानता हूँ, और वो अगर इस हाई level की लापरवाही करता है, 5.74 W/Kg लेवेल रेडिएशन जो की बहुत ज्यादा  है, तो बाकी कम्पनी पर तो की क्या ही भरोसा कर सकते हैं।

अगर आपको भी डर है, तो जो दो-चार चीजें जो मैंने बताई है, कर लीजियेगा। और iPhone लेने की सोच रहें हैं, तो एक बार फिर भी लैबोरेट्री टेस्ट आ जाने का इंतज़ार कर लीजिये।


Read Also:

Share this Article
Leave a comment