Paytm Ban 2024: बैन से है जन्मों का नाता

8 Min Read

Paytm Ban 2024: बैन से है जन्मों का नाता

“पेटीएम करो” यह वाक्य आपने ऐड में कई–कई बार सुने होंगे। और “पेटीएम पर 100 रुपए प्राप्त हुए” सुन कर संतोष हो जाता था, की हां भाई पैसे चले गए, अब मस्त सामान ले कर चलो।

इसमें कोई शक नहीं कि डिजिटल इंडिया के कैशलेस भारत में, पेटीएम का भाग बेहद अहम रहा है। लेकिन यह समय–समय पर बैन नाम की साढ़े साती से गुजरता रहा है। इसका बैन शब्द से मानो लव और हेट का रिश्ता हो।

तो अगर आप भी परेशान या उत्सुक है, की आखिर पेटीएम की लड़ाई क्या है RBI से, जो बात–बात पर बेचारे पेटीएम से रूठ जाता है। तो एक नज़र डालने है Paytm के इतिहास और वर्तमान के पन्नो पर।

How to do Paytm KYC

2010: Paytm की नीव

2010 वह जमाना था, जब 1gb डाटा को लोग महीने–महीने भर बचा–बचा कर इस्तेमाल किया करते थे। एंड्रॉयड का चलन नया नया शुरू हो हुआ था। लेकिन फिर भी लोगों के हाथो में चाइनीज टच फोन, नोकिया के टच फोन, किसी किसी के पास एंड्रॉयड, और कुछ अमीरों के पास आईफोन भी हुआ करता था। जिसमें चाह कर भी नेट स्पीड से चलना ही नहीं चाहता था।

लोग रिचार्ज वाले से छुट्टे के लिए लड़ कर, फिर 296 वाले इंटरनेट पैक के लिए 300 रुपए दे कर रिचार्ज करवाया करते थे, या फिर कॉल करने के लिए 10–20 रुपए का कूपन कोड स्क्रैच कर रिचार्ज किया करते थे, जिसे पीछे वाला देख कर पहले ही बैलेंस ले लेता था।

ऐसे में paytm एक वेबसाइट की तरह इस दुनियां में आया। जिसके वॉलेट में लोग अपने डेबिट कार्ड से पैसे ऐड कर पाते थे, जिसका इस्तेमाल फोन के रिचार्ज के लिए किया जाने लगा। ये उस समय बहुत क्रांतिकारी था, अब लोगों को लाइन मेने लग के, छुट्टे के लिए लड़ कर रिचार्ज करवाने को ज़रूरत नही थी। यहां तक कि 300 के रिचार्ज पर 100 रुपए तक का कैशबैक आता था।

तो जहां लोगों को दुकानों पर 4 रुपए एक्स्ट्रा दे कर रिचार्ज करवाना पड़ता था, वहा पेटीएम घर बैठे बिल्कुल कम पैसों के वह रिचार्ज दे रहा था। जिस से पेटीएम शुरुआत से ही मशहूर होने लगा। ये कैशबैक भले ही समय के साथ कम और गायब ही हो गया।

Founders: पेटीएम को 2010 में, विजय शंकर शर्मा ने शुरू किया था।

शुरुआती सर्विस: मोबाइल रिचार्ज और बिल पेमेंट से शुरू हुआ था, समय के साथ डिजीटल वॉलेट, UPI पेमेंट, e-कॉमर्स सर्विस भी। जुड़ती चली गई।

What are the benefits of UPI?

2017: Paytm Payments Bank (PPBL)

2017 में, Paytm ने PPBL का उद्घाटन किया। जहां आप ऑनलाइन अपना बैंक में खाता खोल, मामूली बैंक को सभी सुविधाए ऑनलाइन ही प्राप्त कर सकते थे। जिसके लिए बिना ट्रेडिशनल बैंकिंग करें आप बैंकिंग कर सकते थे।

.

2018: लाइसेंसिंग शर्तों का उल्लंघन:

2018 में, RBI ने लाइसेंसिंग शर्तों से संबंधित उल्लंघनों के कारण PPBL में नए खाते खोलने पर अस्थायी रूप से रोक लगा दिया था।

How to do Paytm KYC

2020: KYC मानदंडों का अनुपालन

Reserve Bank of India (RBI) को Paytm Payments Bank (PPBL) में प्रोपर KYC प्रोसिजर के साथ समस्याएं मिली, जिसमें एक ही KYC ID से जुड़े कई यूजर अकाउंट शामिल थे।

.

2021: Lending Practices और Data Privacy

गलत जानकारी: RBI ने पाया कि PPBL ने गलत जानकारी जमा की थी और जुर्माना लगाया था।

Account Creation Suspension: PBL के अनुपालन संबंधी मुद्दों के कारण कुछ समय के लिए नए खाता निर्माण पर रोक लगा दी थी।

KYC Norms Violation: RBI ने PBL को केवाईसी मानदंडों का पालन न करने पर दंडित किया।

.

2022: Illegal Loan Sharks और Money Laundering Allegations

All-in-One App Controversy: रिपोर्ट्स ने इल्लीगल लोन शार्क्स को “All-in-One” ऐप से Paytm से जोड़ा।

ED Investigation: Enforcement Directorate (ED) ने Paytm और समान प्लेटफॉर्म्स के माध्यम से काले धन को वैध बनाने के अरोपण की जांच शुरू की।

.

2023: नए सिरे से जांच

RBI Warning: RBI ने PPBL को फिर से गैर-अनुपालन के लिए चेतावनी दी, उन्हें कमियों का समाधान करने के निर्देश दिए।

KYC Lapses और Transactions: PPBL ने फिर से KYC में चूक और समग्र लेनदेन के लिए फिर से एक बार जांच की।

How to block Your Paytm

.

January 31, 2024: Paytm Bank पर गंभीर प्रतिबंध

  • डिपोजिट और क्रेडिट लेनदेन: 29 फरवरी, 2024 के बाद किसी भी ग्राहक के खाते में कोई भी नया पैसा डिपोजिट या क्रेडिट लेनदेन की अनुमति नहीं है। इसमें वॉलेट, फास्टैग और NCMC कार्ड के लिए टॉप-अप भी शामिल है।
  • फंड ट्रांसफर: 29 फरवरी के बाद PPBL अकाउंट्स और अन्य बैंकों के बीच पैसे ट्रांसफर करने की सुविधा को भी बंद कर दिया गया है।
  • बिल भुगतान: PPBL का उपयोग करके बिल भुगतान जैसी सेवाएं 29 फरवरी से बंद हो गईं हैं।
  • UPI: PPBL अब 29 फरवरी के बाद UPI लेनदेन की प्रोसेस नहीं कर सकता है।

कारण: Paytm Payment Bank पर आज प्रतिबंध का सिर्फ कोई एक कारण नहीं है। पहले के बताए सारे कारणों ने मिल कर, Paytm bank को आज इस अंजाम तक पहुंचाया है।

.

अभी भी PPBL के साथ क्या कर सकते है?

Withdrawals: आप अभी भी अपने PPBL खाते या वॉलेट में किसी भी मौजूदा शेष राशि को बिना किसी प्रतिबंध के निकाल सकते हैं।

Interest, cashback, और refunds: ये अभी भी आपके खाते में जमा किए जाएंगे।

Savings Account: बुनियादी बचत खाते की फंक्शनैलिटी चालू रहेगी, जिसमें आप धनराशि रख सकते हैं लेकिन और राशी एड नहीं कर सकते।

Paytm QR code

Paytm Bank का भविष्य:

PPBL का भविष्य अनिश्चित बना हुआ है। यह संभव है कि RBI शायद प्रतिबंध हटाएँ। अब यह PPBL पर निर्भर करता है को वो RBI के इस मुद्दे और लगाए जाए इल्जामों को किस तरह से संबोधित करता है। और अगर पेटीएम सही से जवाब नहीं दे पाया तो पूरी संभावना है की आगे की कार्रवाई में PPBL का ऑपरेटिंग लाइसेंस रद्द भी हो सकता है।

.

       तो आखिर में, पेटीएम की जर्नी एक रोलर कोस्टर राइड की तरह रही है, जिसमें समय-समय पर उसने ‘Ban’ नामक स्पीड ब्रेकर को खेला है। लेकिन अब जा कर RBI ने उसकी गाड़ी पटरी से उतार दी है और यह गाड़ी अब कब तक अपनी पटरी से उतरी ही रहेगी यह भी पेटीएम पर ही निर्भर करता है, की वो कितनी ईमानदारी से RBI को जवाब देता हैं।


Hidden Camera in Oyo: इस Valentine's Day करें प्राइवेसी को प्रोटेक्ट

Hidden Camera in Oyo: इस Valentine’s Day करें प्राइवेसी को प्रोटेक्ट

A man using laptop and phone in toilet

Mosquito of Digital World: टॉयलेट में फोन चलाने के खतरे

TAGGED: ,
Share this Article
Leave a comment