Apple Vision Pro: कर रहे है लोग वापिस

5 Min Read

Apple Vision Pro: कर रहे है लोग वापिस

Apple Vision Pro के लॉन्च पर लोगों को बहुत सी उम्मीदें थी। यह एक ऐसा डिवाइस था, जो की भविष्य के सपने ले कर आया था। इसमें आप अपनी आखों की मूवमेंट से चीजों को कंट्रोल कर सकते है, 3d एरिया में इधर उधर घूमने के साथ साथ सब कुछ बहुत डिटेल से देख सकते है। Vision Pro बस एक VR नहीं है, एक फ्यूचर की झलक हैं।

लेकिन ₹2,88,700 का यह फ्यूचर के लिया बना डिवाइस, आज कल लोग वापिस कर रहे है। कुछ यूजर्स भले ही इसकी इमर्सिव क्षमताओं और इनोवेटिव फीचर्स की तारीफ करते हैं, पर वहीं कुछ लोगों को सिरदर्द और अन्य दिकत्तों का सामना करना पड़ रहा है, जिससे इसे रिटर्न करने वालों को संख्या बढ़ती जा रही है।

.

क्या हैं परेशानियाँ?

dizziness due to using VR

आँखों में खिंचाव और सिरदर्द:

Mens Journal के एक सर्वे से पता चला कि 25% शुरुआती Vision Pro adopters को इस्तेमाल के दौरान सिरदर्द या आँखों में खिंचाव का महसूस हुआ।

ZDNet की एक रिपोर्ट में यूज़र की शिकायतों को हाइलाइट किया गया है, जिनमें Vision Pro की eye-tracking तकनीक के कारण आँखों में थकान और सिरदर्द की समस्या बताई गई है। इसके लगातार इस्तेमाल से आँखों में खिंचाव पैदा हो रहा है, जिससे डिस्कॉमफर्ट होता है। जिससे यूजर डिवाइस का पूरी तरह से मज़ा नहीं ले पाते हैं।

.

साइज सही ना होना

कई यूजर्स ने कंपलेंट की है, की eye strain और light seal सही से फिट नहीं हो रहा है, जिस से लाइट अंदर आ रही है, और विज़न को प्रभावित कर रही है। तो ₹2,88,700 दे कर भी उन्हें एक ऐसा डिवाइस मिल रहा है, जो उनकी आंखों पर फिट नहीं बैठ रहा, तो वापिस करना एक जाहिर सी बात है।

.

कंटेंट प्रभावशाली नहीं

TechRadar की रिपोर्ट के अनुसार, यूजर्स का मानना है की, Vision Pro headset के लिए उपलब्ध कंटेंट और app इतने ख़ास नहीं है, जो की इसे वापिस करने की एक बड़ी वजह है।

Why VR is bad for Your Eyes?

एप्पल को आ रही इन दिक्कतों के बारे में वैसे तो जानकारी है और वो इसे इस्तेमाल करते समय, हर 20–30 मिनिट में ब्रेक लेने की सलाह दे रहा है। पर फिर भी Vision Pro headset का दूसरे apple डिवाइस की तुलना में रिटर्न रेट 15% ज्यादा हाई है,

.

भविष्य के लिए क्या उम्मीद?

Apple Vision Pro Review: A Game-Changer That Should Worry Samsung

इसमें कोई शक नहीं है की, Apple Vision Pro एक फ्यूचरेस्टिक डिवाइस है। पर इसमें भी कोई शक नहीं, की यह भविष्य के लिए है, वर्तमान के लिए नही। उसकी वजह है, कोई भी नई टेक्नोलोजी पूरी तरह से डेवलप होने में समय लेती है। एप्पल भी अभी अपने शुरुआती समय में है, और सच कहें तो एक्सपेरिमेंटल फेज में, जिसमें आपको एक्सपेरिमेंट वाला चूहा बनने के लिए ढ़ाई लाख से ज्यादा की कीमत देनी पड़ रही है।

तो पैसे दे कर एक्सपेरिमेंट वाला चूहा बन ने से अच्छा है, जब टेक्नोलोजी पूरी तरह डेवलप हो, जाए तब इस प्रॉडक्ट पर इन्वेस्ट किया जाए। ऐसा होने पर इसके लिए, कंटेंट और ऐप भी उस ही क्वालिटी और क्वानटिटी में होंगे। कीमत हो सकता है कम हो जाए, या कोई और कम्पनी काम दाम में टेक्नोलोजी ले कर आए।

आगे आने वाले समय में Apple Vision Pro को बेहतर बनाने के लिए और रिसर्च करेगा, अभी भी आंखों के तनाव और मोशन सिकनेस को दूर करने के लिए सॉफ्टवेयर अपडेट पर काम कर रही है, और भविष्य में आने वाले हेडसेट हल्के और पहनने में और आरामदायक भी होंगे।


नए Samsung Galaxy S24 series में अभी से आने लगी दिक्कतें

नए Samsung Galaxy S24 series में अभी से आने लगी दिक्कतें

Hidden Camera in Oyo: इस Valentine's Day करें प्राइवेसी को प्रोटेक्ट

Hidden Camera in Oyo: इस Valentine’s Day करें प्राइवेसी को प्रोटेक्ट

TAGGED:
Share this Article
Leave a comment